संदेश

May, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सर्टिफिकेट सियार का

चित्र
सियारों से कुत्तों की दुश्मनी बहुत पुराणी है।  इससे सम्बंधित कई किस्से कहानियाँ हैं।  आईये ऐसे ही एक रोचक कहानी के बारे में जानते हैं। इस कहानी के मुख्य पात्र हैं। सियार सियारिन और कुत्ते।
सियारों को उनसे नगर में रहने का अधिकार छीन गया था तब से सियार जंगल में रहने लगे थे और कुत्ते गावं में।  जब भी साहस कर सियार गावं में आने की कोसिस करते कुत्ते उन्हें भों भों कर भगा देते।


एक दिन एक सियार को कोई पत्र मिला।  वह उस पत्र को मुहं में दबाये हुए घर पहुंचा।  घर पहुँच कर उसने बड़े प्यार से सियारिन को आवाज लगायी।
प्रिये सुनती हो ! प्रिये सुनती हो। ....

अरे भाग्यवान सुनती हो !

सियारिन ने कहा -->आयी जी बच्चों को खिला रही हूँ थोड़ा देर इन्तजार कर लो। कुछ भन भनाते हुए सियारन दरवाजे पर आ गयी. ये सब तो मेरे ही जिम्मे हैं न पैदा कर छोड़ दिए मुझ पर। मैं न देखूं तो इन्हे कौन देखेगा। आप तो बाहर घूमते रहते हो कभी मेरे बारे में भी सोचा है।  मेरा भी मन करता है कही घुमाने जाने का बाहर का खाने का।

सियार ने अपने मुँह में दबाये हुए कागज़ को जमीन पर रखते हुए उसे पैरों से दबाते हुए बोला। इसे पढ़ो पगली। अब पुरानी …